गुगली और दूसरा बॉल में अंतर के साथ जानें गुगली, दूसरा, कैरम और चाइनामैन बॉल परिभाषा

Last updated on April 28th, 2024 at 10:06 am

गुगली, दूसरा और कैरम बॉल ये तीनों स्पिन बोलिंग का तरीका हैं. “गुगली बॉल” का जनक ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर Bernard Bosanquel हैं, गुगली बॉल लगभग साल 1900 से प्रचलन में हैं. वहीं अगर “कैरम बॉल” की बात करें तो पहली बार साल 1940 में क्रिकेट जगत में इसका परिचय हुआ था. श्रीलंका के पूर्व गेंदबाज अजंता मेंडिस साल 2008 में एक बार फिर कैरम बॉल लेकर आए और क्रिकेट की दुनियाँ में रातों रात प्रसिद्ध हो गए.

दूसरा बॉल” का श्रेय पाकिस्तान के पूर्व महान स्पिन गेंदबाज शकलैन मुश्ताक़ को जाता हैं जिन्होंने साल 2000 में क्रिकेट में दूसरा बॉल का परिचय करवाया था. चाइनामैन भी गेंदबाजी का एक तरीका हैं इन सभी स्पिन गेंदबाजी वेरिएशन के सम्बन्ध में हम इस लेख में पढ़ेंगे. साथ ही जानेंगे कि गुगली और दूसरा बॉल में अंतर, कैरम बॉल और चाइनामैन बॉल में अंतर क्या हैं?

गुगली बॉल कि परिभाषा-

गुगली बॉल दाएँ हाथ के गेंदबाज (Right Arm Bowlers) या लेफ्ट आर्म चाइनामैन बॉलर ही कर सकते हैं. दाएँ हाथ के गेंदबाज द्वारा जब ऑफ स्पिन गेंद की जाती हैं और लेफ्ट आर्म चाइनामैन गेंदबाज द्वारा जब लेफ्ट आर्म ऑफ स्पिन गेंदबाजी करते हैं तो इसे “गुगली बॉल” कहा जाता हैं.

पूर्व ऑस्ट्रेलियन लेग स्पिनर शेन वार्न, पूर्व भारतीय लेग स्पिनर अनिल कुंबले गुगली बॉल करने में माहिर थे. युजवेंद्र चहल भी अच्छी गुगली डाल सकते हैं. जो अच्छा लेग स्पिनर होता हैं वह इस बॉल का उपयोग कम से कम करता ताकि सामने वाले बल्लेबाज के मन में गुगली का भ्रम या भय बना रहे.

दूसरा बॉल कि परिभाषा-

दाएँ हाथ के ऑफ स्पिनर द्वारा दाएँ हाथ से लेग स्पिन डाली जाती हैं तो इसे “दूसरा बॉल” नाम दिया जाता हैं. या फिर लेफ्ट आर्म लेग स्पिनर लेफ्ट आर्म ऑफ स्पिन करेंगे तो यह दूसरा बॉल होगी. दूसरा बॉल का नामकरण पहली पाकिस्तान के विकेटकीपर मोईन खान द्वारा किया गया था. क्रिकेट इतिहास में शकलैन मुश्ताक़ ने पहली दूसरा बॉल साल 2000 में डाली थी.

भारत के पूर्व गेंदबाज हरभजन सिंह, श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन, पाकिस्तान के शकलैन मुश्ताक़, शोएब मलिक और रविचंद्रन अश्विन दूसरा बॉल के माहिर खिलाड़ी रहे हैं.

कैरम बॉल कि परिभाषा-

कैरम बॉल को लेग स्पिनर या ऑफ स्पिनर दोनों में से कोई भी डाल सकता हैं. जब किसी बॉल को कैरम के स्ट्राइकर से मारने की तरह फेंका जाता हैं तो यह बॉल कैरम बॉल कहलाती हैं. यह बॉल किसी भी दिशा में घूम सकती हैं या सीधी रह सकती हैं. श्रीलंका के अजंता मेंडिस कैरम बॉल के सबसे माहिर खिलाड़ी माने गए हैं हालाँकि भारत के रविचंद्रन अश्विन भी कैरम बॉल का बहुत उपयोग करते हैं.

यह बॉल फ्लाइट कम होती हैं अर्थात हवा में ज्यादा ऊँचाई पर नहीं जाती हैं.

चाइनामैन बॉल कि परिभाषा-

चाइनामैन बॉल के पीछे एक छोटी सी कहानी हैं. चाइनामैन से मतलब तो यही हुआ की चाइना का रहने वाला? हाँ यह सही भी हैं, दरअसल साल 1930 में चीनी मूल के एक खिलाड़ी वेस्टइंडीज की टीम में हुआ करते थे उनका नाम था एलिस आचोंग. यह लेफ्ट आर्म स्पिनर थे लेकिन यह खिलाड़ी राइट हैंड बैट्समैन के लिए ऑफ स्पिन फेंकने में माहिर थे. इस बॉल पर अक्सर बल्लेबाज चकमा खा जाते थे.

वेस्टइंडीज बनाम इंग्लैंड के बिच एक मैच के दौरान एलिस आचोंग ने इंग्लैंड के बल्लेबाज वाल्टर रॉबिन्स के सामने इस तरह की गेंद डाली. उनको बिलकुल भी समझ नहीं आए और वो स्टंप आउट हो गए. तभी आउट होकर बाहर जाते हुए वाल्टर रॉबिन्स ने अंपायर से कहा “इस चाइनामैन ने चकमा दे दिया” तभी से यह नाम इंग्लैंड में काफी प्रसिद्ध हो गया.

जो बाएँ हाथ (left Arm) के स्पिनर लेग स्पिन डालते हैं उन्हें “चाइनामैन गेंदबाज” कहा जाता हैं.

गुगली और दूसरा बॉल में अंतर, कैरम बॉल और चाइनामैन बॉल में अंतर

क्र.सं.अन्तर का आधारगुगली बॉलदूसरा बॉलकैरम बॉलचाइनामैन बॉल
(1)जन्मदाताबर्नार्ड बोसांक्वेलशकलैन मुश्ताक़अजंता मेंडिसएलिस आचोंग
(2)जन्मदाता का देशऑस्ट्रेलियापाकिस्तानश्रीलंकावेस्टइंडीज
(3)प्रवृति/परिभाषाराइट आर्म लेग स्पिनर
की बॉल ऑफ स्पिन हो
जाती हैं.
राइट आर्म ऑफ स्पिनर द्वारा
इसी एक्शन के साथ लेग स्पिन
बॉल दूसरा बॉल हैं.
बॉल को कैरम के स्ट्राइकर से
मारने की तरह फेंका जाता हैं
तो यह बॉल कैरम बॉल कहलाती हैं
बाएँ हाथ के स्पिनर लेग स्पिन
डालते हैं उन्हें
“चाइनामैन गेंदबाज” कहा जाता हैं.
(4)प्रसिद्ध गेंदबाज शेन वार्न, अनिल कुंबलेशकलैन मुश्ताक़, मुथैया मुरलीधरनअजंता मेंडिस, रविचंद्रन अश्विनकुलदीप यादव
(गुगली और दूसरा बॉल में अंतर, कैरम बॉल और चाइनामैन बॉल में अंतर की सारणी)

इस सारणी से आपको गुगली और दूसरा बॉल में अंतर, कैरम बॉल और चाइनामैन बॉल में अंतर समझ आ गया होगा.

यह भी पढ़ें-

Cricketer Of The Year कैसे चुना जाता हैं?