History Of Cricket In Hindi, क्रिकेट का इतिहास.

History Of Cricket In Hindi:- क्रिकेट का इतिहास बहुत प्राचीन हैं. इसकी उत्पत्ति 16वीं सदी से मानी जाती हैं. पिछले कई दशकों से क्रिकेट का खेल बहुत तेज़ी से बढ़ा हैं. यह शहरों से निकलकर गाँवों में भी धूम मचा रहा हैं. क्रिकेट का इतिहास देखा जाए तो इसकी शुरुआत इंग्लैंड से हुई थी. पहले यह कुछ देशों तक ही सिमित था लेकिन धीरे-धीरे यह विश्व के कई देशों में खेला जाने लगा हैं. भारत में क्रिकेट युवाओं की पहली पसंद बन गया हैं. शहर हो या गाँव आज यह खेल गली-गली में खेला जाता हैं.

क्रिकेट का इतिहास भले ही इंग्लैंड से शुरू होता हो आज के समय में भारत में इसका सबसे ज्यादा क्रेज हैं. इसी क्रिकेट क्रेज को देखते हुए आईपीएल जैसे टी-20 लीग की शुरुआत हुई हैं. पुरे विश्व में इंटरनेशनल क्रिकेट के अलावा प्राइवेट क्रिकेट लीग का आयोजन भी शुरू हो चूका हैं.

इस लेख में हम क्रिकेट का इतिहास (History Of Cricket In Hindi), क्रिकेट की शुरुआत, क्रिकेट के नियम आदि के बारे में जानकारी हासिल करेंगे.

क्रिकेट का इतिहास (History Of Cricket In Hindi)

परिचय बिंदुपरिचय
क्रिकेट का हिंदी नामगोल गट्टम लकड़ बग्घम दे दना दन प्रतियोगिता.
शुरुआत16वीं शताब्दी.
उद्भव देशइंग्लैंड (ग्रामीण).
आधिकारिक रूप से टेस्ट क्रिकेट का प्रारम्भवर्ष 1877 से.
पहला इंटरनेशनल मैच 1844 के बाद.
पहला इंटरनेशनल क्रिकेट मैचवर्ष 1844, संयुक्त राज्य अमेरिका बनाम कनाडा.
History Of Cricket In Hindi

क्रिकेट का इतिहास (History Of Cricket In Hindi) बहुत प्राचीन हैं इसके सम्बन्ध में प्रथम ज्ञात सन्दर्भ 1597 ईस्वी में मिलता हैं. समय के साथ-साथ इस खेल की लोकप्रियता बहुत तेज़ी के साथ बढ़ी. 17वीं और 18वीं सदी के दौरान क्रिकेट का प्रचलन इंग्लैंड में जोर-शोर से बढ़ा. प्रथम ज्ञात क्रिकेट क्लब मैच वर्ष 1750 में बनाया गया था, यह क्लब हैम्बलडन (हैंपशायर) में बनाया गया. 1780 तक हैम्बलडन इंग्लैंड का सबसे प्रसिद्ध और लोकप्रिय क्रिकेट क्लब बन गया.

इंग्लैंड में क्रिकेट का उदय हुआ लेकिन 18 वीं शताब्दी के बाद से यह खेल धीरे-धीरे पुरे विश्व में फैलने लगा. भारत में क्रिकेट का इतिहास देखा जाए तो ईस्ट इंडिया कंपनी के साथ भारत में इस खेल का उदय हुआ था.

भारत में प्रथम श्रेणी क्रिकेट की शुरुआत 1864 ईस्वी में हुई थी जब कोलकत्ता बनाम मद्रास के बिच पहला मुकाबला खेला गया. इस मैच के रिकॉर्ड तो उपलब्ध नहीं हैं लेकिन “प्रवीण चौहान” नामक खिलाड़ी को “मैन ऑफ़ दी मैच” का अवार्ड मिला था. भारत में क्रिकेट का इतिहास ईस्ट इंडिया कंपनी के साथ ब्रिटिशकालीन राज के अस्तित्व और विकास पर आधारित रहा हैं. भारत ने क्रिकेट इतिहास का अपना पहला मैच लॉर्ड्स के मैदान में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था. कहते हैं की भारत और इंग्लैंड का यह मैच देखने के लिए लगभग 24 हजार दर्शक मौजूद थे.

भारत ने अपना पहला क्रिकेट मैच वर्ष 1952 में इंग्लैंड के खिलाफ मद्रास में पारी से जीता था.

क्रिकेट की उत्पत्ति कैसे हुई?

क्रिकेट की उत्पत्ति 16 वीं शताब्दी में इंग्लैंड में हुई थी जिसकी जड़े अब लगभग पुरे विश्व में फ़ैल चुकी हैं. इसकी उत्पत्ति इंग्लैंड में चरवाहों और किसानों के बिच मानी जाती हैं. सबसे पहले ग्रामीण इलाकों में ही लोग इस खेल का आनंद लेते थे लेकिन समय के साथ-साथ इसका विकास और विस्तार होता गया. आज का क्रिकेट इसकी उत्पत्ति के समय से बिलकुल अलग हैं. जब क्रिकेट अपने प्रारंभिक दौर में था तब यह अवकाश के दिनों में खेला जाता था.

स्टंप के तौर पर किसी पेड़ या दरवाजे का इस्तेमाल किया जाता था और एक लकड़ी के डंडे से बॉल को मारा जाता था. यह क्रिकेट इतिहास (History Of Cricket In Hindi) का प्रारंभिक समय था. जैसे-जैसे क्रिकेट की लोकप्रियता बढ़ी इसके नियम बनने लगे और धीरे-धीरे 17 वीं शताब्दी तक यह एक प्रतिस्पर्धी खेल बन गया. यह प्रतिस्पर्धा कस्बों और गाँवों के बिच होती थी. यही से क्रिकेट शहरों तक पहुंचा. वर्ष 1646 में सेरेक्स,इंग्लैंड में खेला गया क्रिकेट मैच पहला रेकोर्टेड क्रिकेट मैच माना जाता हैं.

18 वीं सदी की शुरुआत से ही क्रिकेट का विकास और लोकप्रियता एक दम से बढ़ी. एक प्रतिस्पर्धी खेल के साथ-साथ कई क्रिकेट क्लब भी अस्तित्व में आए. प्रतिस्पर्धी खेल और क्लबों के वजह से ही नियम और विनियम अस्तित्व में आए जिसके चलते इस खेल को निष्पक्ष बनाने के लिए कई नए नियम जोड़े गए.

वर्ष 1787 में स्थापित “मैरिलेबोन क्रिकेट क्लब” (MCC) क्रिकेट इतिहास (History Of Cricket In Hindi) का सबसे प्रभावशाली क्लब माना जाता हैं जिसके कारण क्रिकेट के नए नियम बनें और इनको लागु करना संभव हुआ. इंग्लैंड का लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड आज भी “मैरिलेबोन क्रिकेट क्लब” (MCC) के स्वामित्व में हैं.

19 वीं शताब्दी आते-आते यह खेल कई देशों की सीमाएँ लांग गया और अब इस खेल में विभिन्न देशों के मध्य प्रतिस्पर्धा होने लगी. ना सिर्फ खिलाड़ी बल्कि दर्शकों को भी इस खेल ने बहुत लुभाया. छोटे-छोटे मैचों में भरी भीड़ देखी जाने लगी. विभिन्न देशों में ब्रिटिश हुकूमत के कारण भी यह खेल बहुत तेजी के साथ फैला. इंग्लैंड के बाद ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, भारत, वेस्टइंडीज और भारत जैसे देशों ने इस खेल को अपनाया जिसने कुछ ही समय लोगों के बिच जगह बना ली.

क्रिकेट का इतिहास देखा जाए तो इसका क्रमिक रूप से विकास हुआ.

क्रिकेट का जनक

विलियम गिल्बर्ट ग्रेस को क्रिकेट का जनक माना जाता हैं. ग्रेस 18 वीं शताब्दी में इंग्लैंड की ओर से क्रिकेट खेलने वाले खिलाड़ी थे. विलियम गिल्बर्ट ग्रेस को “द डॉक्टर”, “द बिग अन”, “द ओल्डमैन” और “द चैंपियन” आदि उपनामों से भी जाना जाता हैं. क्रिकेट के जनक विलियम गिल्बर्ट ग्रेस का इंटरनेशनल क्रिकेट कैरियर वर्ष 1880 से 1899 तक माना जाता हैं. इन 19 वर्ष के क्रिकेट कैरियर में विलियम गिल्बर्ट ग्रेस ने सन्यास के बाद भी प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलना जारी रखा जो इनकी 60 वर्ष की आयु तक चलता रहा.

इन 43 वर्षों में विलियम गिल्बर्ट ग्रेस ने 44 प्रथम श्रेणी के टूर्नामेंट लगातार खेले. क्रिकेट के जनक कहे जाने वाले विलियम गिल्बर्ट ग्रेस राइट हैंड बल्लेबाज होने के साथ-साथ एक बेहतरीन गेंदबाज भी थे. क्रिकेट का इतिहास (History Of Cricket In Hindi) उठाकर देखा जाए तो क्रिकेट के जनक विलियम गिल्बर्ट ग्रेस ने 870 मैचों 54000 से भी अधिक रन बनाए और 2800 से अधिक विकेट लिए थे जो की आज के समय में अविश्वसनीय प्रतीत होता हैं.

भारत का पहला टेस्ट मैच

टेस्ट क्रिकेट में भारतीय क्रिकेट का इतिहास (History Of Cricket In Hindi) वर्ष 1932 से शुरू होता हैं जब भारत ने लॉर्ड्स के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला टेस्ट क्रिकेट मैच खेला था. यह केवल एक टेस्ट मैच की सीरीज थी जो सी.के. नायडू की कप्तानी में खेला गया.

भारतीय क्रिकेट इतिहास का पहला टेस्ट मैच भारत 158 रनों के विशाल अंतर से हारा था. इस मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में 259 रन बनाए जबकि दूसरी पारी में 275 रन. जब भारत बल्लेबाजी करने उतरा तो पहली और दूसरी पारी में क्रमशः 189 व 187 रन ही बना सका. इस तरह टीम इंडिया क्रिकेट इतिहास का प्रथम टेस्ट क्रिकेट मैच 158 रनों के विशाल अंतर से हार गया.

पहली पारी में कप्तानी पारी खेलते हुए सी.के. नायडू ने सबसे अधिक 40 रन बनाए जबकि दूसरी पारी में भारत की ओर से टेस्ट क्रिकेट मैच में पहला अर्धशतक लगाने वाले फ़ास्ट बॉलर अमर सिंह ने 51 रन की पारी खेली.

क्रिकेट का इतिहास (History Of Cricket In Hindi) कहता हैं की टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड के खिलाफ पहला शतक लाला अमरनाथ के नाम हैं. वर्ष 1933-34 में मुंबई में खेला गया यह मैच भारत में खेला गया पहला इंटरनेशनल टेस्ट क्रिकेट मैच था.

इंग्लैंड के खिलाफ भारत ने वर्ष 1951-52 में खेली गई टेस्ट सीरीज में अपना पहला मैच जीता था. विजय हजारे की कप्तानी में खेले गए इस टेस्ट मैच में भारत ने इंग्लैंड को पारी और 4 रन से हराया था. भारत ने इंग्लैंड में पहला टेस्ट मैच अजित वाडेकर की कप्तानी में वर्ष 1971 में ओवल में जीता, जिसमें भारतीय टीम ने इंग्लैंड को 4 विकेट से पराजित किया था.

BCCI की स्थापना

BCCI की फुल फॉर्म “बोर्ड ऑफ़ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया” हैं. बी.सी.सी.आई. की स्थापना वर्ष 1928 में हुई थी. भारतीय क्रिकेट इतिहास (History Of Cricket In Hindi) में यह एक नया अध्याय था. बी.सी.सी.आई. का एक अध्यक्ष होता और ज्यादातर काम बी.सी.सी.आई. सचिव की देखरेख में होता हैं. चयन समिति का गठन भी बी.सी.सी.आई. द्वारा ही किया जाता हैं.

ICC की स्थापना

ICC की फुल फॉर्म “International Cricket Council” होती हैं. इसका काम क्रिकेट के नए नियम बनाना और इंटरनेशनल क्रिकेट को बेहतर बनाना हैं.

क्रिकेट के मुख्य टूर्नामेंट्स

आधुनिक समय में क्रिकेट की लोकप्रिय काफी बढ़ चुकी हैं. ICC द्वारा इंटरनेशनल लेवल पर कई बड़े टूर्नामेंट्स का आयोजन किया जाता हैं जिसमें-

[1] ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप.

[2] ICC चैंपियंस ट्रॉफी

[3] एशिया कप

[4] और द्विपक्षीय सीरीज मुख्य हैं.

सारांश

दोस्तों इस लेख में आपने क्रिकेट का इतिहास (History Of Cricket In Hindi) पढ़ा जिसकी शुरुआत इंग्लैंड से हुई थी. 16वीं शताब्दी से शुरू हुआ यह खेल आज अपने आधुनिक रूप में. इंग्लैंड को ही क्रिकेट का जन्मदाता माना जाता हैं. इंग्लैंड से निकला क्रिकेट आज विश्व के प्रत्येक देश तक पहुँच चूका हैं.

यह भी पढ़ें-

क्रिकेट वर्ल्ड कप विनर्स कप्तानों की लिस्ट.

ODI क्रिकेट वर्ल्ड कप विनर्स लिस्ट.

क्रिकेट वर्ल्ड कप 1983 खिलाड़ियों की सूचि.

दुनियाँ का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम.

यह यह भी पढ़ें यह भी पढ़े

error: Content is protected !!