क्रिकेट इतिहास कि सबसे खतरनाक ओपनिंग जोड़ियां || Successful opening pairs in cricket history

दोस्तों विश्व क्रिकेट में समय-समय पर ऐसे बल्लेबाज आए हैं जिन्होंने बड़े से बड़े गेंदबाजी आक्रमण को ध्वस्त कर दिया। ऐसी ही आक्रामक और क्रिकेट इतिहास कि सबसे खतरनाक ओपनिंग जोड़ियां जिनके सामने कोई भी गेंदबाज, गेंदबाजी करना पसंद नहीं करता था. भारत और ऑस्ट्रेलिया की सलामी जोड़ी के सामने तो अच्छे-अच्छे गेंदबाज खौफ खाते थे. तो आइये जानते हैं उन खूंखार सलामी बल्लेबाजी जोड़ियों के बारें में.

क्रिकेट इतिहास कि सबसे खतरनाक ओपनिंग जोड़ियां

यहाँ पर क्रिकेट इतिहास की सबसे अच्छी 6 क्रिकेट ओपनिंग जोड़ियां (Successful opening pairs in cricket history) बताई गई हैं-

1. सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली

सचिन और गांगुली की ओपनिंग जोड़ी दुनियाँ की सबसे सफलतम जोड़ी मानी जाती हैं. साल 1996 से लेकर 2007 तक  इन दोनों ने मिलकर 136 इनिंग्स में भारत के लिए पारी की शुरुआत करते हुए 6609 रन बनाए। इस दौरान इनका औसत लगभग 50 का रहा. 2 बार ऐसा हुआ जब दोनों ने नाबाद रहकर टीम को जीत दिलाई। जहाँ सचिन संभलकर बल्लेबाजी करते थे वही गांगुली अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए विश्व विख्यात थे. क्रीज से बाहर निकलकर गगनचुम्बी छक्के मारना गांगुली के बाएं हाथ का खेल था. वही सचिन किसी भी गेंदबाज को छठी का दूध याद दिलाने में समय नहीं लगाते थे.

कई वर्ष बीत जाने के बाद भी सचिन-गांगुली की ओपनिंग जोड़ी को आज भी लोग नहीं भूले हैं.

2. एडम गिलक्रिस्ट और मैथ्यू हेडन

किसी भी गेंदबाज के लिए खौफ का दूसरा नाम थे गिलक्रिस्ट और हेडन। आक्रामक बल्लेबाजी करना और बड़े से बड़े गेंदबाजी आक्रमण को पल भर में डिस्ट्रॉय कर देना गिलक्रिस्ट और हेडन के लिए बड़ी बात नहीं थी. कई गेंदबाज इनके सामने आने से डरते थे. साल 2001 से 2008 तक इन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए 114 बार पारी की शुरुआत करते हुए 3 बार नाबाद रहकर लगभग 48 के औसत से 5310 रन बनाए हैं. 

3. रोहित शर्मा और शिखर धवन

हिटमैन के नाम मशहूर रोहित शर्मा और क्रिकेट के गब्बर, धवन ने आधुनिक क्रिकेट में बहुत तहलका मचाया। इन्होंने 115 बार भारत के लिए पारी की शुरुआत करते हुए  2 बार नाबाद रहकर 5148 रन बनाए। किसी भी टीम के लिए रोहित और धवन को आउट करना एक चेलेंज होता था. रोहित शर्मा ने ओपनिंग करते हुए 3 बार एकदिवसीय क्रिकेट में दोहरा शतक जमाया, यह करना अब तक विश्व का कोई भी बल्लेबाज नहीं कर पाया हैं.

4 हाशिम अमला और क्विंटन डी कॉक

हाशिम अमला और क्विंटन डी कॉक साउथ अफ्रीका के लिए पारी की शुरुआत करते थे. इन दोनों ने साल 2013 से लेकर साल 2019 तक यह मोर्चा संभाला था. जहाँ अमला अपनी टाइमिंग और तकनीक के लिए जाने जाते थे वहीँ डी कॉक आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी करते थे. दोनों ने मिलकर 93 पारियों में 4198 रन बनाए हैं  जिनके बलबूते अफ्रीका कई महत्वपूर्ण मैच जीतने में कामयाब रहा हैं.  अमला और डी कॉक के बाद अफ्रीका को आज तक अच्छी ओपनिंग जोड़ी नहीं मिली हैं.

5 सचिन और सहवाग

सचिन-सहवाग की ओपनिंग जोड़ी भारत की सबसे लोकप्रिय जोड़ी हैं. आज भी ज्यादातर लोग सचिन-सहवाग का नाम साथ में लेते हैं. इनके समय वर्ल्ड क्रिकेट में बड़े-बड़े बॉलर थे लेकिन सबका बाप थे वीरेंद्र सहवाग। चाहे गेंदबाज कोई भी हो, चाहे मैदान कोई भी हो और गेंदबाज किसी भी लाइन पर बॉल डालें सहवाग में इतनी क्षमता थी की वह बड़ी ही आसानी के साथ गेंद को सीमा रेखा के बाहर भेज देते थे. आज भी विश्व के कई पूर्व दिग्गज क्रिकेटर सहवाग की बल्लेबाजी और आक्रामक रवैये का लोहा मानते हैं.

भारत के इन दोनों महान बैट्समैन में से सचिन को आउट करना मुश्किल था तो सहवाग को रोकना मुश्किल था. दोनों ने भारत के लिए 93 परियों में 2 बार नाबाद रहते हुए 3919 रन बनाए हैं. 

6 डेविड वार्नर और एरोन फिंच

ऑस्ट्रेलिया में गिलक्रिस्ट और हेडन के बाद डेविड वार्नर और एरोन फिंच ने दुनियाँ भर के गेंदबाजों की धुनाई करने मे कोई कसर नहीं छोड़ी। दोनों ने मिलकर 80 बार पारी की शुरुआत की और लगभग 3700 रन बनाए वो भी बहुत ही आक्रामक अंदाज में.

यह भी पढ़ें- दुनियाँ के 10 सबसे खूबसूरत क्रिकेट स्टेडियम।